Woh Jild Wali Ladki

उसे न तो जानता था, न पहचानता था. सिर्फ़ नाम जानता था, उसकी लिखाई ( हैंडराइटिंग) पहचानता था, पर ख़यालो में उसे अक्सर ढूँढा करता था … बड़ी चाह थी एक बार तो मिलूं उससे … मगर हर […]

Ishq Mein Robot

दिवाली की छुट्टियों का मौसम था… मेरा शहर सुबह-सुबह जाग जाता, और फिर.. दिन भर अलसाया सा रहता… मैं भी अपनी बालकोनी पे कोई किताब खोले… बैठा कम, सोता ज़्यादा रहता … करता भी तो क्या..तब छानने के लिए […]

किस्से का किस्सा

फिर आया नए वर्ष के स्वागत का समय!

दिसंबर के अंतिम दिनों में जब कैलेंडर छलांग लगाने को होता है अख़बारों और मीडिया -जनों की दुनिया अतीत के पन्ने पलटने लगती है और टेलिविज़न के न्यूज़ एंकर पुराने क्लिप […]

Kuch To Baaki Hai

तलाक… सोहम के कान जलने लगे।

उम्र के इस पड़ाव पर जब लोग अपने बच्चों के बच्चे के साथ खेलते हैं, तब तो सोहम ने शादी की है । अभी शादी के कुछ ही महीने तो हुए हैं । […]

Go to Top